%E0%A4%AE%E0%A5%81%E0%A4%96%E0%A5%8D%E0%A4%AF%E0%A4%AE%E0%A4%82%E0%A4%A4%E0%A5%8D%E0%A4%B0%E0%A5%80 %E0%A4%95%E0%A4%A8%E0%A5%8D%E0%A4%AF%E0%A4%BE %E0%A4%B8%E0%A5%81%E0%A4%AE%E0%A4%82%E0%A4%97%E0%A4%B2%E0%A4%BE %E0%A4%AF%E0%A5%8B%E0%A4%9C%E0%A4%A8%E0%A4%BE
State Government Schemes(राज्य की योजनाएं)

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना: How to Apply and Eligibility

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की शुरुआत उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा की गयी है। Kanya Sumangala Yojana 2023 के तहत राज्य की बालिकाओं को लाभ प्रदान किया जाएगा। राज्य के इच्छुक उम्मीदवार इस योजना का लाभ लेने के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट mksy.up.gov.in पर जा कर आवेदन कर सकते है। योजना का लाभ लेने के लिए उन बालिकाओं को पात्र माना जाएगा जिनके परिवार के सभी श्रोतो से आने वाली वार्षिक आय 3 लाख से कम हो। 

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना का अवलोकन 

नाममुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना 
राज्यउत्तर प्रदेश
विभागमहिला एवं बाल विकास विभाग उत्तर प्रदेश
लाभार्थीराज्य की बालिकाएं
आवेदनऑनलाइन
उद्देश्यराज्य की बालिकाओं का प्रोत्साहन बढ़ाना औरउनके भविष्य को उज्वल करना
कब लांच किया2023
ऑफिसियल वेबसाइटmksy.up.gov.in

क्या है मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना? 

राज्य सरकार द्वारा इस योजना के तहत बालिकाओ को 15000 रूपये की कुल धनराशि दी जाएगी और बालिकाओ को दी जाने वाली कुल धनराशि 6 समान किश्तों में दी जाएगी। इस कन्या सुमंगला योजना 2023 के अंतर्गत कन्याओ के परिवार की वार्षिक आय अधिकतम 3 लाख या इससे कम होनी चाहिए। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस योजना का कुल बजट 1200 करोड़ रूपये रखा है। 

महिलाओं को सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना का शुभारंभ किया गया था। इस योजना के माध्यम से बालिकाओं के जन्म के पश्चात 6 किस्तों में आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। इस योजना के अंतर्गत स्वालंबन कैंप का आयोजन अक्टूबर से दिसंबर तक किया जाएगा। इन कैंप के माध्यम से पात्र लाभार्थियों के आवेदन प्राप्त किए जाएंगे एवं उन्हें लाभवंती किया जाएगा। यह कैंप 26 अक्टूबर, 12 एवं 25 नवंबर तथा 8 एवं 22 दिसंबर को सभी जिलों में आयोजित किए जाएंगे। अब तक इस योजना के माध्यम से 10 लाख से ज्यादा बालिकाओं को लाभवंती किया जा चुका है।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना का आवेदन कैसे करें

निम्नलिखित दस्तावेज जिनके बिना मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना का आवेदन नहीं हो सकता:-

• राशन कार्ड

• आय प्रमाण पत्र

• बैंक अकाउंट

• मोबाइल नंबर

• पासपोर्ट साइज फोटो

• यदि बेटी गोद ली है तो गोद लेने का प्रमाण पत्र

• वोटर आईडी कार्ड

• निवास प्रमाण पत्र

आगे की प्रक्रिया कुछ इस प्रकार हैं:-

• सर्वप्रथम आवेदक को mksy.up.gov.in पर जाना होगा।

mksy.up.gov.in पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल जायेगा इसके बाद आपको होम पेज पर Citizen Service Portal का ऑप्शन दिखाई देगा।

• आपको इस विकल्प पर क्लिक करना होगा। विकल्प पर क्लिक करने के बाद आपके सामने आगे का पेज खुल जायेगा इस पेज पर आपको रजिस्ट्रेशन करना होगा। 

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना 2023 में किए गए कुछ महत्वपूर्ण बदलाव

इस योजना के तहत पहले लाभार्थी का राष्ट्रीय कृत बैंक में खाता होना अनिवार्य था। लेकिन अब ग्रामीण बैंक व डाकघर में संचालित खाते भी मान्य होंगे। इसके अलावा कन्या सुमंगला योजना के तहत आवेदन करने के लिए ₹10 का शपथ पत्र देना होता था लेकिन अब स्व घोषणा पत्र ही मान्य होगा। साथ ही सरकार द्वारा इस योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदन प्रक्रिया को सरल करने के साथ ही जांच प्रक्रिया में हर स्तर पर बदलाव लाया गया है। अब इस योजना के तहत आवेदक को अलग-अलग आवेदन करने की जरूरत नहीं होगी। एक बार में ही आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाएगा जो ऑनलाइन आगे बढ़ती रहेगी। प्रदेश सरकार ने इस योजना में शासन स्तर पर इसलिए बदलाव किए हैं ताकि हर तबके की बेटियों को लाभ मिल सके।

यह भी पढ़ें ->   Swami Vivekananda Assam Youth Empowerment Scheme (SVAYEM): Apply for Rs. 50,000 Subsidy Loan

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की विशेषताएं

• इस योजना के तहत बालिकाओं का विकास होगा तथा बालिकाओं को सामाजिक सुरक्षा भी प्रदान की जाएगी 

राज्य में बालिकाओ की सुरक्षा, संक्षारण स्वास्थ और शिक्षा संबंधित बाधाएं समाप्त की जाएंगी।

• उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना में आवेदन आप घर बैठे ही इंटरनेट के माध्यम से कर सकते हैं।

• इस योजना का लाभ एक परिवार की 2 लड़कियां ही उठा सकती हैं यदि किसी महिला की डिलीवरी के समय जुड़वाँ बेटियां होती हैं तो तीसरी लड़की भी इस योजना का लाभ उठा सकती है।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की पात्रता

• उत्तर प्रदेश का निवासी हो तथा उसके पास स्थायी निवास प्रमाण पत्र हो। 

• लाभार्थी की पारिवारिक वार्षिक आय अधिकतम ₹-3 लाख हो।

• किसी परिवार की अधिकतम दो ही बच्चियों को योजना का लाभ मिल सकेगा।

• परिवार में अधिकतम दो बच्चे हों।

• किसी महिला को द्वितीय प्रसव से जुड़वा बच्चे होने पर तीसरी संतान के रूप में लड़की को भी लाभ अनुमन्य होगा। 

• यदि किसी महिला को पहले प्रसव से बालिका है व द्वितीय प्रसव से दो जुड़वा बालिकायें ही होती हैं तो केवल ऐसी अवस्था में ही तीनों बालिकाओं को लाभ अनुमन्य होगा।

• यदि किसी परिवार ने अनाथ बालिका को गोद लिया हो, तो परिवार की जैविक संतानों तथा विधिक रूप में गोद ली गयी संतानों को सम्मिलित करते हुये अधिकतम दो बालिकायें इस योजना की लाभार्थी होंगी।

मुख्य रूप से पूछे जाने वाले प्रश्न

प्रश्न-

कन्या सुमंगला योजना में कितने रुपए मिलेंगे?

उत्तर-

कक्षा 6 मे प्रवेश लेने पर 3,000 रुपये की राशि कन्या के खाते में डाले जाएंगे। कक्षा 8 मे प्रवेश लेने पर 5,000 रुपये प्रदान किये जाएंगे। हाईस्कूल (10th) पास करने पर 7,000 रुपये प्रदान किये जाएंगे।

प्रश्न-

कन्या सुमंगला योजना के क्या नियम है?

उत्तर-

आवेदक के परिवार की वार्षिक आय 3 लाख रूपये या फिर उससे कम होनी चाहिए। यदि किसी परिवार ने अनाथ बच्चियों को गोद लिया है तो अधिकतम गोद ली हुई दो लड़कियां इस योजना का लाभ उठा सकती हैं और इसी के साथ उस परिवार की दो और लड़कियां इस योजना का लाभ उठा सकते हो।

External links

उत्तर प्रदेश सरकार

https://up.gov.in/en