%E0%A4%AC%E0%A4%BF%E0%A4%B9%E0%A4%BE%E0%A4%B0 %E0%A4%95%E0%A5%83%E0%A4%B7%E0%A4%BF %E0%A4%87%E0%A4%A8%E0%A4%AA%E0%A5%81%E0%A4%9F %E0%A4%85%E0%A4%A8%E0%A5%81%E0%A4%A6%E0%A4%BE%E0%A4%A8 %E0%A4%AF%E0%A5%8B%E0%A4%9C%E0%A4%A8%E0%A4%BE
State Government Schemes(राज्य की योजनाएं)

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना 2023

बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना 2023 छोटे और सीमांत किसानों की सहायता के लिए बिहार सरकार द्वारा स्थापित एक कृषि सब्सिडी कार्यक्रम है। यह योजना किसानों को उनकी भूमि पर खेती करने में सहायता करने के लिए बीज, उर्वरक और कीटनाशक जैसे इनपुट के लिए नकद सब्सिडी प्रदान करती है। इसमें महिला किसानों और प्राकृतिक आपदाओं से प्रभावित किसानों के लिए विशेष उपाय भी शामिल हैं।

योजना का मुख्य उद्देश्य छोटे और सीमांत किसानों की उत्पादकता में वृद्धि करना और उनके जीवन की गुणवत्ता में सुधार करना है। बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना 2023 का उद्देश्य भी किसानों के बीच गरीबी को कम करना और उन्हें उन्नत तकनीकों और कृषि पद्धतियों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना है। यह योजना कृषि विभाग और पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन विभाग के माध्यम से लागू की जाती है।

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना 2023

बिहार ने अपनी कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए एक नए अपडेट की घोषणा की, जिसका उद्देश्य राज्य में किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करना है। यह योजना किसानों को उर्वरकों और कीटनाशकों की खरीद पर सब्सिडी प्रदान करेगी, और बीज और अन्य कृषि आदानों की लागत को भी कवर करेगी।

योजना का नया अपडेट कृषि आदानों की खरीद पर 30% की अतिरिक्त सब्सिडी प्रदान करेगा, साथ ही श्रम की लागत पर 15% सब्सिडी भी प्रदान करेगा। यह भी प्रस्तावित है कि जैविक कृषि आदानों और जैविक खाद को कवर करने के लिए सब्सिडी को बढ़ाया जाए।

बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना सब्सिडी राशि में 10% की वृद्धि के साथ महिला किसानों को अतिरिक्त लाभ भी प्रदान करेगी। इसके अलावा, योजना में शामिल होने के लिए पंजीकरण शुल्क पर छूट के साथ, योजना छोटे और सीमांत किसानों को अतिरिक्त राहत भी प्रदान करेगी।

योजना के नए अपडेट से राज्य की कृषि उत्पादकता पर सकारात्मक प्रभाव पड़ने के साथ-साथ किसानों को लाभ होने की उम्मीद है। बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के आने वाले महीनों में लागू होने की उम्मीद है, जिसका उद्देश्य किसानों को समर्थन देना और बिहार में कृषि उद्योग को बढ़ावा देना है।

लाभ और अनुदान बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना 2023

बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना (बीकेआईएसएस) भारत के बिहार राज्य में एक राज्य स्तरीय पहल है, जो फसलों की खेती के लिए इनपुट लागत को कवर करने के लिए छोटे और सीमांत किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करती है। इस योजना का उद्देश्य कृषि उत्पादकता को बढ़ावा देना और छोटे और सीमांत किसानों की आय में वृद्धि करना है।

योजना के तहत, पात्र किसानों को बिहार में उगाई जाने वाली किसी भी फसल के लिए खेती की लागत का 50% अनुदान प्रदान किया जाता है। किसान सब्सिडी का उपयोग उर्वरक, कीटनाशक, शाकनाशी, बीज और फसल की खेती के लिए आवश्यक अन्य आदानों की खरीद के लिए कर सकते हैं। सब्सिडी की राशि ₹5,000 प्रति हेक्टेयर भूमि पर रखी गई है।

सब्सिडी के अलावा, यह योजना किसानों को अन्य लाभ प्रदान करती है, जैसे कि कृषि ऋण, फसल बीमा और कृषि विस्तार सेवाओं तक पहुंच। यह योजना किसानों को लघु-स्तरीय कृषि-प्रसंस्करण इकाइयों की स्थापना के लिए सहायता भी प्रदान करती है।

यह भी पढ़ें ->   अंतर्जातीय विवाह योजना उत्तराखंड: ऑनलाइन आवेदन, फॉर्म डाउनलोड, लाभ व पात्रता

यह योजना कृषि विभाग, बिहार सरकार द्वारा प्रशासित है, और 2005 से संचालन में है। पात्र किसान अपने स्थानीय कृषि विज्ञान केंद्र में योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना 2023 के लिए पात्रता मानदंड

बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना 2023 के लिए पात्रता मानदंड इस प्रकार हैं:

  1. किसान बिहार का निवासी होना चाहिए और उसके पास जोत होनी चाहिए।
  2. किसान को बाढ़, सूखा, या ओलावृष्टि जैसी प्राकृतिक आपदाओं के कारण कृषि फसल का नुकसान हुआ हो। 
  3. किसान के पास किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) या किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक में खाता होना चाहिए।
  4. किसान को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) या सरकार द्वारा अनुमोदित किसी अन्य फसल बीमा योजना के तहत अपनी फसल का बीमा होना चाहिए।
  5. किसान के पास वैध आधार कार्ड होना चाहिए।
  6. किसान को फसल बीमा योजना के प्रीमियम का भुगतान समय पर करना होगा।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि योजना के लिए पात्रता मानदंड समय-समय पर भिन्न हो सकते हैं, और किसानों को सलाह दी जाती है कि वे नवीनतम जानकारी और अपडेट के लिए संबंधित अधिकारियों से संपर्क करें।

बिहार कृषि इनपुट अनुदान योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना 2023 कृषि आदानों और मशीनरी की खरीद के लिए किसानों को सब्सिडी प्रदान करता है। यह योजना किसानों के लाभ और राज्य में कृषि उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए लागू की गई है। इस योजना का लाभ उठाने के लिए, किसानों को अपनी आवेदन प्रक्रिया पूरी करने के लिए कुछ दस्तावेज देने होंगे।

बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना 2023 के लिए आवश्यक दस्तावेज नीचे सूचीबद्ध हैं:

  1. पहचान प्रमाण जैसे आधार कार्ड या मतदाता पहचान पत्र।
  2. भूमि के दस्तावेज जैसे कि भूमि का स्वामित्व या पट्टे के दस्तावेज।
  3. बाढ़, सूखा, या ओलावृष्टि जैसी प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल के नुकसान का प्रमाण।
  4. बैंक खाता विवरण और पासबुक।
  5. किसान क्रेडिट कार्ड (केसीसी) या किसी भी राष्ट्रीयकृत बैंक में खाता संख्या।
  6. प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) या किसी अन्य सरकार द्वारा अनुमोदित फसल बीमा योजना के तहत अपनी फसलों का बीमा कराने का प्रमाण।
  7. अधिकारियों द्वारा निर्दिष्ट कोई अन्य दस्तावेज।

उपरोक्त दस्तावेजों के अलावा, किसानों को उनकी विशेष परिस्थितियों के आधार पर अतिरिक्त दस्तावेज उपलब्ध कराने के लिए कहा जा सकता है। सभी आवश्यक दस्तावेज जमा करने पर, किसान के आवेदन पर कार्रवाई की जाएगी, और समयबद्ध तरीके से सब्सिडी प्रदान की जाएगी। किसानों के लिए इस योजना का लाभ उठाने के लिए सभी आवश्यक दस्तावेज उपलब्ध कराना महत्वपूर्ण है, क्योंकि किसी भी तरह की विसंगतियों के कारण उनके आवेदन की प्रक्रिया में देरी हो सकती है।

बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना में ऑनलाइन और ऑफलाइन आवेदन कैसे करें

बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीके से आवेदन किया जा सकता है। यहां दोनों तरीकों से योजना के लिए आवेदन करने के चरण दिए गए हैं:

ऑनलाइन आवेदन:

  1. कृषि के लिए बिहार सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं – http://www.krishi.bih.nic.in.
  2. होमपेज पर ‘कृषि इनपुट सब्सिडी योजना’ विकल्प पर क्लिक करें।
  3. ‘ऑनलाइन आवेदन’ चुनें और आवश्यक विवरण जैसे व्यक्तिगत जानकारी, बैंक विवरण, फसल हानि विवरण, बीमा विवरण और अन्य प्रासंगिक जानकारी भरें।
  4. निर्धारित प्रारूप में आवश्यक दस्तावेज अपलोड करें और आवेदन जमा करें।
  5. आवेदन सफलतापूर्वक जमा करने पर, एक पावती रसीद उत्पन्न होगी, जिसे डाउनलोड करके भविष्य के संदर्भ के लिए रखा जा सकता है।
यह भी पढ़ें ->   Jai Bangla Pension Scheme 2023: Apply Online, Slip Download, Status Check & Verification

ऑफलाइन आवेदन:

  1. योजना के लिए निकटतम कृषि विभाग कार्यालय या नामित केंद्र पर जाएं।
  2. बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए आवेदन पत्र प्राप्त करें।
  3. आवेदन पत्र में आवश्यक विवरण भरें, जैसे व्यक्तिगत जानकारी, बैंक विवरण, फसल हानि विवरण, बीमा विवरण और अन्य प्रासंगिक जानकारी।
  4. निर्धारित प्रारूप में आवश्यक दस्तावेज संलग्न करें।
  5. भरे हुए आवेदन पत्र और दस्तावेजों को नामित प्राधिकारी को जमा करें।

आवेदन जमा करने के बाद, आवेदन पर कार्रवाई की जाएगी, और सत्यापन के बाद, सब्सिडी राशि किसान के बैंक खाते में वितरित कर दी जाएगी। किसी भी देरी या अस्वीकृति से बचने के लिए यह सुनिश्चित करना आवश्यक है कि आवेदन पत्र में दिए गए सभी विवरण सटीक और पूर्ण हैं।

बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना 2023 के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

  • बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना क्या है?

बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना 2021 में बिहार सरकार द्वारा शुरू की गई एक सरकारी योजना है। इस योजना के तहत, जिन किसानों को प्राकृतिक आपदाओं जैसे बाढ़, सूखा, ओलावृष्टि आदि के कारण फसल का नुकसान हुआ है, वे कृषि आदानों जैसे बीज, उर्वरक, कीटनाशक, और अन्य आवश्यक आदानों की खरीद खेती के लिए  वित्तीय सहायता प्राप्त करने के पात्र हैं। 

  • बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए कौन पात्र है?

जिन किसानों को प्राकृतिक आपदाओं जैसे बाढ़, सूखा, ओलावृष्टि आदि के कारण फसल का नुकसान हुआ है, वे बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए पात्र हैं। यह योजना छोटे और सीमांत किसानों दोनों के लिए लागू है और सब्सिडी की राशि क्षति की सीमा और भूमि के आकार के आधार पर भिन्न होती है।

  • बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के तहत कितनी वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है?

बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के तहत प्रदान की जाने वाली वित्तीय सहायता क्षति की सीमा और भूमि के आकार के आधार पर भिन्न होती है। सब्सिडी राशि ₹6,000 प्रति हेक्टेयर से ₹​10,000 प्रति हेक्टेयर तक होती है।

  • बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए किसान कैसे आवेदन कर सकते हैं?

बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए किसान कृषि विभाग, बिहार सरकार की आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से आवेदन कर सकते हैं। आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन है और किसानों को अपना नाम, पता, भूमि का विवरण, फसल का विवरण, क्षति की सीमा आदि जैसे विवरण प्रदान करने की आवश्यकता है।

  • बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए आवेदन करने के लिए किन दस्तावेजों की आवश्यकता है?

बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए आवेदन करने के लिए आवश्यक दस्तावेजों में भूमि दस्तावेज, एक आधार कार्ड, बैंक खाता विवरण, फसल विवरण और फसलों को हुए नुकसान की सीमा से संबंधित अन्य प्रासंगिक दस्तावेज शामिल हैं।

  • क्या बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए आवेदन करने की कोई समय सीमा है?

हां, बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए आवेदन करने की एक समय सीमा है। प्राकृतिक आपदा आने के बाद आवेदन प्रक्रिया आमतौर पर सीमित समय के लिए खुली रहती है। किसानों को नवीनतम अपडेट और समय सीमा के लिए कृषि विभाग, बिहार सरकार की आधिकारिक वेबसाइट देखने की सलाह दी जाती है।

  • बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के तहत किसानों को सब्सिडी राशि का वितरण कैसे किया जाता है?
यह भी पढ़ें ->   Inter Caste Marriage Scheme Manipur

डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (DBT) मोड के माध्यम से पात्र किसानों के बैंक खाते में सीधे सब्सिडी राशि जमा की जाती है।

  • बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना कौन लागू करता है?

बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना कृषि विभाग, बिहार सरकार द्वारा कार्यान्वित की जाती है। विभाग किसानों की पात्रता की पुष्टि करने, आवेदनों को संसाधित करने और पात्र किसानों को सब्सिडी राशि वितरित करने के लिए जिम्मेदार है।

बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना के लिए संपर्क विवरण और हेल्पलाइन नंबर

राज्य में किसानों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए बिहार सरकार के कृषि विभाग द्वारा बिहार की कृषि इनपुट सब्सिडी योजना लागू की गई है। यह योजना किसानों को रियायती दर पर आवश्यक सामग्री जैसे बीज, उर्वरक और अन्य कृषि सामग्री खरीदने में मदद करती है।

बिहार कृषि इनपुट सब्सिडी योजना 2023 के लिए संपर्क और हेल्पलाइन विवरण नीचे दिए गए हैं:

  • टोल-फ्री हेल्पलाइन नंबर:1800-345-6123
  • ईमेल:ई-कृषिबिहार@gov.in
  • वेबसाइट: http://agriculture.bih.nic.in/
  • पता:कृषि विभाग, बिहार सरकार, पटना, भारत।

योजना से संबंधित किसी भी प्रश्न के लिए, किसान उपर्युक्त हेल्पलाइन नंबर, ई-मेल पते पर संपर्क कर सकते हैं या वेबसाइट पर जा सकते हैं। हेल्पलाइन नंबर 24/7 उपलब्ध है और अधिकारी आवश्यक जानकारी प्रदान करेंगे और योजना से संबंधित किसी भी प्रश्न या समस्या को हल करने में मदद करेंगे।